Monday, July 12, 2021

दिवास्वप्न || Day Dreaming



एक गांव में एक ग्वाला था। उसके घर में कई गाय थी जिनका दूध वह अपने गांव के लोगों को बेचने के लिए रोज जाता था। एक दिन वह दूध लेकर जा रहा था और मन ही मन सोच रहा था कि अभी उसके पास जितनी गाय हैं कुछ दिन बाद उसकी दोगुनी गाय उसके पास होंगी और उसके कुछ दिन बाद उससे भी दोगुनी गाय उसके पास हो जाएंगी। तब उसके पास बेचने के लिए बहुत ढेर सारा दूध भी हो जाएगा। इस प्रकार दूध बेच बेच कर वह बहुत अमीर हो जाएगा। इसी प्रकार दिवास्वप्न देखते हुए वह आगे बढ़ता जा रहा था कि तभी उसका पैर जमीन पर बैठे हुए एक कुत्ते से टकरा गया। कुत्ता पें- पें करते हुए भागा लेकिन तब तक उस लड़के का सारा दूध गिर चुका था। भविष्य में होने वाले लाभ के बारे में सोचते सोचते वह अपने वर्तमान के लाभ से भी हाथ धो बैठा।


0 comments: